Kolkata: क्या आप गए है कभी कैफे पॉजिटिव, एशिया का पहला कैफे जिसे चलाते HIV Positive

Kolkata: कोरोना वायरस महामारी के संक्रमण को लेकर भी जहां लोगों में छूने से फैलने वाली बीमारी का डर बना हुआ था वही पर आज के समय में HIV को लेकर लोगों में अब भी भ्रांतियां है जिसे दूर करने के लिए एशिया का पहला कैफे बना हुआ है जिसे एचआईवी से पॉजिटीव लोग चलाते है। जिसका नाम कोलकाता में कैफे पॉजिटीव के नाम से फेमस है।

जानें कैफे पॉजिटीव के बारे

एशिया के इस पहले कैफे, कैफे पॉजिटीव के बारे में आपको बताते चलें तो, यह कैफे एक एनजीओ से जुड़ा हुआ है जिसे खोलने के पीछे मकसद एचआईवी से जुड़े भ्रम को दूर करने से है। इस कैफे के फाउंडर का नाम Kallol Ghosh है, तो वहीं इस कैफे में 10 एचआईवी पॉजिटिव लोग काम करते हैं। जो कैफे के अकाउंट्स देखना और ग्राहकों को सेवा देने से जुड़े काम करते है। यहां पर किचन के काम के लिए अलग से लोग लगाए गए है।

दुनिया में पहचाना जाता है कैफे

आपको बताते चलें कि, जैसे कि आपने जाना इस कैफे को खोलने का उद्देश्य एचआईवी के प्रति फैले डर को दूर करने से वहीं पर दुनिया में इस कैफे को पहचाना जाता है। यहां पर आने वाले कस्टमर भी जानते है कि, यहां HIV Positive लोग खाना सर्व करने का काम करते है। इसे लेकर लोगों में जागरूकता आ रही है इस कैफे को एक नजरिए से काफी सराहनीय माना जाता है।

Share This

0 Comments

Leave a Comment

Login

Welcome! Login in to your account

Remember me Lost your password?

Lost Password