शिक्षकों की नियुक्ति पर फिर लगा ब्रेक, 33 हजार चयनित टीचर्स को अब और करना होगा इंतजार

भोपाल: मध्य प्रदेश में स्कूल शिक्षा विभाग ने शिक्षकों की भर्ती प्रक्रिया पर एक बार फिर से ब्रेक लग गया है। स्कुल शिक्षा विभाग ने शिक्षकों के वेरिफिकेशन के बाद नियुक्ति प्रक्रिया पर रोक लगा दी है वहीं प्रदेश भर में 33 हजार चयनित शिक्षक जो कि 2 साल से नियुक्ति का इंतजार कर रहे हैं उन्हें अब और इंतजार करना होगा।

बता दें कि वर्ग 1 के चयनित शिक्षकों की च्वाईस फिलिंग के बाद दो महीने पहले वेरिफिकेशन की प्रक्रिया पूरी हो चुकी है। वहीं इस भर्ती प्रक्रिया के तहत 19 हजार से ज्यादा शिक्षकों की ज्वाइनिंग होनी है। शिक्षक पात्रता परीक्षा के तहत प्रदेश भर में 33 हजार शिक्षक चयनित हुए हैं। वहीं हाई स्कुल और हायर सेकेंडरी स्कुल में वर्ग-1 में शिक्षकों के 19600 पद हैं, तो मिडिल स्कूल में वर्ग-2 में शिक्षकों के 5600 पद हैं। आदिम जाति कल्याण विभाग के वर्ग 01 में 2200 पद और वर्ग 02 में 5600 पद हैंष फिलहाल 0वर्ग तीन की परीक्षा आयोजित होनी है।

2018 से इंतजार कर रहे शिक्षक

जानकारी के मुताबिक, मध्य प्रदेश में साल 2018 में विज्ञापन निकला था। जिसमें पात्रता परीक्षा वग्र 1 और वर्ग 2 की परीक्षा ली गई थी। इन परिक्षाओं को माध्यम से 33 हजार शिक्षकों का चयन हुआ था। लेकिन अब 2020 भी बीत गया और दो साल से इंतजार कर रहे चयनित शिक्षक अब भी अपनी नियुक्ति की राह देख रहे हैं। प्रदेश भर में शिक्षकों की कमी वाले स्कूलों में शिक्षकों को नियुक्ति दी जानी थी, लेकिन अभी तक ऐसा नहीं हुआ है। इससे पहले साल 2011 में शिक्षक भर्ती निकली थी, फिर सात साल के लंबे अंतराल के बाद 2018 में निकाली गई थी।

स्कूल शिक्षा मंत्री बोले जल्द होगी नियुक्ति

शिक्षकों की नियुक्ति के ब्रेक लगने के मामले में स्कूल शिक्षा मंत्री इंदर सिंह परमार का कहना है कि शिक्षकों का मामला फिलहाल कोर्ट में है। नियुक्ति को लेकर समीक्षा की जा रही है, जल्द से जल्द स्कूलों में शिक्षकों को नियुक्तियां दी जाएगी। इसमें बजट की कमी की कोई बात नहीं है।

Share This

0 Comments

Leave a Comment

Login

Welcome! Login in to your account

Remember me Lost your password?

Lost Password