Antilia case: दिग्विजय सिंह ने NIA पर उठाया सवाल, कहा - इससे जांच कराने का अर्थ है बीजेपी से जांच कराना

Antilia case: दिग्विजय सिंह ने NIA पर उठाया सवाल, कहा – इससे जांच कराने का अर्थ है बीजेपी से जांच कराना

Digvijay Singh

भोपाल। उद्योगपति मुकेश अंबानी के घर के बाहर बारूद से लदी कार मिलने के मामले में कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह ने एनआईए की जांच पर सवाल उठाया है। दिग्विजय सिंह ने कहा कि NIA से जांच का अर्थ है बीजेपी से जांच कराना। उन्होंने दावा किया है कि एनआईए के निदेशक वाईसी मोदी के नजदीकी संबंध प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी से हैं। मालूम हो कि यह कोई पहला मौका नहीं है जब दिग्विजय सिंह ने कोई विवादित बयान दिया हो। इससे पहले वो कई ऐसे बयान दे चुके हैं जिससे कांग्रेस को बैकफुट पर आना पड़ा है। आइए जानते हैं उनके कुछ चर्चित बयान..

1) अप्रैल 2019 में भोपाल में आयोजित एक जनसभा को संबोधित करते हुए दिग्विजय सिंह ने कहा था कि आजकल गूगल पर फेकू टाइप करो, देखों किसका फोटो आता है। उनका निशाना प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की तरफ था। आगे उन्होंने बिना नाम लिए कहा कि इनकी शोहरत इस बात से है कि इनसे झूठा प्रधानमंत्री किसी देश का नहीं है। जिसके बाद लोगों ने दिग्विजय को ट्रोल करना शुरू कर दिया था।

2) 2019 में ही हिन्दुत्व और हिन्दू आतंकवाद के बारे में पूछे गए सवाल पर दिग्विजय ने पत्रकारों से कहा था ‘आप लोग हिन्दुत्व शब्द का उपयोग क्यों करते हैं? ये शब्द मेरी डिक्शनरी में है ही नहीं’

3) अप्रैल, 2017 में उन्होंने सेना पर कश्मीरियों को मारने का आरोप लगाया। मालूम हो कि कश्मीर में युवाओं द्वारा सीआरपीएफ जवानों के साथ बदसूलकी और कश्मीरी युवक को कथित तौर पर जीप के आगे बांधकर घूमाने का वीडियो सामने आया। जिसके बाद उन्होंने ये बयान दिया था।

4) दिग्विजय सिंह हमेशा आरएसएस को निशाने पर लेते हैं। उन्होंने मॉब लिंचिग के एक मामल में विवादित बयान देते हुए कहा था कि आरएसएस के लोग ही भीड़ को हिंसा करने के लिए उकसाते हैं। क्योंकि उनकी मानसिकता ही ऐसी है। उन्होंने अपने एक दूसरे बयान में संघी आतंकवाद का जिक्र किया था।

5) पुलवामा आतंकी हमले पर भी दिग्विजय सिंह ने सवाल खड़े किए थे। इन्होंने इस हमले को इंटेलिजेंस फेल्योर बताया था और कहा था कि बीजेपी ने पहले भी जैश-मोहम्मद के प्रमुख आतंकवादी मसूद अजहर को छोड़ा था? आतंकवादियों से समझौता करना किसी भी परिस्थिति में उचित नहीं है।

6) मंदसौर में एक बार उन्होंने जनसभा को संबोधित करते हुए इलाके की सांसद मीनाक्षी नटराजन पर विवादित टिप्पणी किया था और कहा था कि मैं राजनीति का पुराना जौहरी हूं, मुझे पता है कि कौन फर्जी है और कौन सही है, इस क्षेत्र की सांसद सौ टंच माल है, इस बात को उन्होंने ऐसे कहा था कि वहां सभी लोग हंसने लगे थे।

7) इसके अलावा बजरंग दल और भाजपा आईटी सेल के पदाधिकारियों पर उन्होंने आरोप लगाया था कि ये लोग पाकिस्तान के लिए जासूसी करते हैं। ISI से पैसे लेकर भारत की खुफिया जानकारी पाकिस्तान को देते हैं।

Share This

0 Comments

Leave a Comment

Login

Welcome! Login in to your account

Remember me Lost your password?

Lost Password