Andhra Pradesh Weather: बारिश और बाढ़ से जान गंवाने वालों की संख्या हुई 34, रेल सेवा आंशिक तौर पर बहाल

flood

अमरावती। आंध्र प्रदेश में बारिश और बाढ़ से संबंधित घटनाओं में मरने वालों की संख्या बढ़कर 34 हो गई है, जबकि 10 और लोगों का अभी भी कुछ पता नहीं है। यह जानकारी राज्य सरकार ने सोमवार को दी।

एसपीएस नेल्लोर जिले के पादुगुपाडु के पास क्षतिग्रस्त हिस्से की मरम्मत का काम पूरा होने के बाद विजयवाड़ा-चेन्नई खंड में एक रेलवे लाइन को सोमवार को यातायात के लिए फिर से खोल दिया गया। चेन्नई-कोलकाता राष्ट्रीय राजमार्ग-16 को भी वाहनों के आवागमन के लिए आंशिक रूप से बहाल कर दिया गया। यह शनिवार देर रात से एसपीएस नेल्लोर जिले में कटा हुआ था।

चित्तूर, अनंतपुरमू, कडपा और एसपीएस नेल्लोर जिलों में बाढ़ पर विधानसभा में बयान देते हुए कृषि मंत्री के. कन्ना बाबू ने कहा कि 34 मृतकों में बचाव दल के तीन सदस्य शामिल हैं। उन्होंने कहा कि प्रत्येक मृतक के परिवार को पांच-पांच लाख रुपये की अनुग्रह राशि दी जाएगी। उन्होंने कहा कि बचाव अभियान में जान गंवाने वाले सरकारी कर्मचारियों के परिवारों को 25-25 लाख रुपये का भुगतान किया जाएगा और परिवार के एक सदस्य को नौकरी दी जाएगी।

कन्ना बाबू ने कहा कि बाढ़ में आठ लाख एकड़ से अधिक क्षेत्र में कृषि और बागवानी फसलों को नुकसान पहुंचा है, जिससे 5,33,345 किसान संकट में हैं। मंत्री ने कहा कि बाढ़ प्रभावित जिलों में फसल के नुकसान की विस्तृत गणना की जा रही है। उन्होंने कहा कि सरकार ने 80 प्रतिशत सब्सिडी पर नये बीज की आपूर्ति करने का फैसला किया है।

इससे पहले, मुख्यमंत्री वाई. एस. जगन मोहन रेड्डी ने बाढ़ प्रभावित जिलों के कलेक्टरों के साथ एक वीडियो कॉन्फ्रेंस की और राहत कार्यों के बारे में जानकारी ली। इन चार जिलों में 50,000 से अधिक लोगों को राहत शिविरों में रखा गया है।

Share This

0 Comments

Leave a Comment

Login

Welcome! Login in to your account

Remember me Lost your password?

Lost Password