Amrish Puri Death Anniversary: एक दुर्लभ बीमारी से ग्रसित थे अमरीश पुरी, आज ही के दिन दुनिया को कहा था अलविदा

Amrish Puri Death Anniversary: एक दुर्लभ बीमारी से ग्रसित थे अमरीश पुरी, आज ही के दिन दुनिया को कहा था अलविदा

Amrish Puri news

Image Source- @DD_Bharati

नई दिल्ली। बॉलीवुड के मशहुर खलनायक रहे अमरीश पुरी (Amrish Puri) को कौन नहीं जानता। उनके अभिनय के हम सब दिवाने हैं। उनके बोले हुए डायलॉग आज हिंदी सिनेमा जगत में अमर हो गए हैं। 12 जनवरी 2005 को आज ही के दिन अमरीश पुरी ने 72 साल की उम्र में इस दुनिया को अलविदा कह दिया था। वो एक दुर्लभ प्रकार के रक्त कैंसर मायलोइड्सप्लास्टिक सिंड्रोम (Myelodysplastic syndrome) से पीड़ित थे। ऐसे में आज हम उन्हें याद करते हुए उनके बारे में कुछ ऐसे किस्से आपको बताएंगे जिसे कम ही लोग जानते हैं।

जिस भी किरदार को किया वो अमर हो गया
अमरीश पुरी ने फिल्म जगत में जो भी किरदार निभाए। उसके साथ उन्होंने न्याय किया। यही कारण है कि उन्हें पिता, दोस्त और विलेन के किरदार में खुब सराहा गया। जब वे मिस्टर इंडिया (Mr. India) में मोगैंबो के रोल में लोगों के सामने आए तो प्रशंसक उनसे नफरत तक करने लगे थे। उन्हें लगा जैसे अमरीश पुरी सच में ऐसे ही है। लेकिन जब वे दिलवाले दुल्हनिया ले जाएंगे (Dilwale Dulhania Le Jayenge) में सिमरन के पिता बने तो, उन्हें दर्शकों ने पिता के रोल में भी खुब सराहा। हर किरदार पर उनकी पकड़ मजबूत थी।

हॉलीवुड भी था उनका दिवाना
1987 में आई फिल्म मिस्टर इंडिया के मोगैंबो वाले किरदार को देखकर हॉलीवुड के महान निर्देशक स्टीवन स्पीलबर्ग (Steven Spielberg) ने कहा था कि अमरीश पुरी मेरे सबसे पसंदीदा खलनायक हैं ना कभी दुनिया ने इनके जैसा देखा है और न ही कभी देखेगी।

बॉलीवुड में हीरो बनने आए थे
अमरीश पुरी का जन्म साल 1932 में पंजाब के नवांशहर जलंधर में हुआ था। उन्होंने 40 साल की उम्र में बॉलीवुड (Bollywood) में डेब्यू किया था। उनकी पहली फिल्म थी रेशमा और शेरा। अमरीश पुरी ने बॉलीवुड में लगभग 500 फिल्मों में काम किया। उन्होंने अपने शुरूआती दिनों में हीरो बनने के लिए कई ऑडिशन दिए, पर वो कभी भी हीरो के रोल के लिए सिलेक्ट नहीं हो पाए।

मौगेंबो का रोल पहले अनुपम को मिला था
उनके फेमस कैरेक्टर मौगेंबो को लेकर भी एक किस्सा है। दरअसल, ये रोल पहले अनुपम खेर (Anupam Kher) को मिला था। उन्होंने शुटिंग भी शुरू कर दी थी। लेकिन उनका शेड्यूल काफी बिजी था। उनके पास कई बडे प्रोजेक्ट्स थे इस कारण से उन्होंने मौगेंबो का किरदार करने से मना कर दिया और तब जा कर ये रोल अमरीश पुरी को मिला। उन्होंने इस कैरेक्टर में इतनी जान डाल दी की लोग उन्हें सबसे बड़ा खलनायक कहने लगे।

अमरीश पुरी को टोपियों का बहुत शौक था
अमरीश पुरी के बारे में कहा जाता है कि उन्हें टोपियों का बहुत शौक था। वह जहां कहीं भी घुमने जाते टोपियां खरीद के ले आते थे। उन्हें अक्सर टोपी पहने हुए देखा जाता था। आज भी उनके याद में घर पर बहुत सारी टोपियों को संग्रहित कर के रखा गया है।

Share This

0 Comments

Leave a Comment

Login

Welcome! Login in to your account

Remember me Lost your password?

Lost Password