Amay Khurasiya: भारत का सबसे शिक्षित क्रिकेटर, जिसने डेब्यू से पहले पास किया IAS एग्जाम

amay khurasiya

भोपाल। देश में कई नामी गिरामी क्रिकेटर हुए। इनमें से अधिकतर क्रिकेट अपने खेल के कारण अपनी पढ़ाई पूरी नहीं कर पाते हैं। लेकिन देश में एक क्रिकेटर ऐसा भी हुआ जो IAS की परीक्षा पास करने के बाद भारतीय टीम के लिए खेला था। हम बात कर रहे हैं अमय खुरासिया की। मालूम हो कि भारत की सबसे मुश्किल परीक्षाओं में से एक है UPSC की सिविल सर्विसेज परीक्षा। हर साल कई लाख अभ्यर्थियों में से कम ही लोग इस परीक्षा में सफल हो पाते हैं। खासकर अगर कोई क्रिकेटर इस परीक्षा को पास कर ले, तो कहानी बन जाती है।

मध्य प्रदेश के रहने वाले हैं खुरासिया

भारत के पूर्व बल्लेबाज अमय खुरासिया का जन्म 18 मई 1972 तो मध्य प्रदेश के जबलपुर में हुआ था। खुरासिया भारतीय क्रिकेटरों में सबसे शिक्षित क्रिकेटर माने जाते हैं। उन्होंने पढ़ाई-लिखाई के साथ ही क्रिकेट खेलना शुरू किया था। 17 साल की उम्र में ही उन्होंने फर्स्ट क्लास करियर शुरू कर लिया था। लेकिन उन्हें भारतीय टीम में जगह बनाने में थोड़ा वक्त लगा। उन्होंने इस समय का कहीं और इस्तेमाल किया और इसी दौरान IAS की परीक्षा पास की। उन्हें कस्टम्स और सेंट्रल डिपार्टमेंट में तैनात किया गया, लेकिन वे इस दौरान क्रिकेट से दूर नहीं गए और उन्होंने क्रिकेट खेलना जारी रखा।

उनके नाम अनूठा रिकॉर्ड

उन्होंने 19 साल की उम्र में एक अनूठा रिकॉर्ड बनाया। वे किसी भी फर्स्ट क्लास मैच की दोनों पारियों में 99 रन बनाने वाले पहले बल्लेबाज बने। खुरासिया ने साल 1999 में टीम इंडिया के लिए श्रीलंका के खिलाफ पेप्सी कप में वनडे डेब्यू किया और पहले ही मैच में 45 गेंदों पर 57 रनों की धमाकेदार पारी खेली। हालांकि खुरासिया ज्यादा दिनों तक टीम इंडिया के लिए खेल नहीं सके। साल 2001 में श्रीलंका के खिलाफ ही उन्हें आखिरी बार भारीतीय क्रिकेट टीम की ओर से खेलने का मौका मिला।

भारत के लिए सिर्फ 12 मैच खेले

खुरासिया ने भारत के लिए सिर्फ 12 वनडे मैच खेले, जिसमें 149 रन ही बना सके। इसमें एक अर्धशतक था। हालांकि, एमपी के लिए उन्होने 119 फर्स्ट क्लास मैच खेले।
जिसमें उन्होंने 21 शतकों की मदद से 7304 रन बनाए।

Share This

0 Comments

Leave a Comment

Login

Welcome! Login in to your account

Remember me Lost your password?

Lost Password