6 एयरबैग के साथ बाजार में आएंगे सभी चार पहिया वाहन! मंत्रालय जल्द ले सकता है फैसला

6 Airbags Mandatory

नई दिल्ली। कुछ महीन पहले ही केंद्र सरकार ने चार पहिया वाहनों के अगले हिस्से में ड्राइवर और सवारी के लिए कम से कम 2 एयरबैग लगाने की सुविधा को अनिवार्य कर दिया था। वहीं अब केंद्रीय सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्रालय (Union Ministry of Road Transport and Highways) चार पहिया वाहनों में 4 और एयरबैग को लगाना आवश्यकर कर सकती है। यानी अब कार में 6 एयरबैग लागना अनिवार्य होगा।

पहले दो एयर बैग को अनिवार्य किया गया था

पहले जहां दो एयर बैग को अनिवार्य किया गया था वो ड्राइवर और आगे के हिस्से में बैठे सवारी की सुरक्षा के लिए था। लेकिन अब मंत्रालय ने पीछे बैठे यात्रियों के लिए भी एयरबैग को अनिवार्य करने का फैसला ले सकती है। इन चार एयरबैग को बढाने के कारण गाड़ियों की कीमतों में उछाल आ सकता है। मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार चार अतिरिक्त एयर बैग लगाने में कंपनी को कम से कम 8 से 10 हजार का खर्च आएगा।

यात्रियों की सुरक्षा ज्यादा महत्वपूर्ण

मंत्रालय ने साफ किया कि इन पैसों से ज्यादा यात्रियों की सुरक्षा महत्वपूर्ण है। इसलिए जल्द ही सभी चार पहिया गाड़ियों में 6 एयर बैग के नियम को लागू किया जा सकता है। गौरतलब है कि केंद्रीय सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी (Nitin Gadkari) काफी पहले से ही ये कहते रहे हैं कि देश में छोटी कारों में सुरक्षा की दृष्टि से पर्याप्त संख्या में एयरबैग होने चाहिए। आमतौर पर बड़ी गाड़ियों में 6 एयरबैग दिए जाते हैं, लेकिन छोटी गाड़ियों ऐसा नहीं किया जाता।

इस कारण से कंपनियां नहीं देती हैं 6 एयरबैग

कंपनी इन गाड़ियों में कॉस्ट कटिंग के कारण 6 एयरबैग नहीं देती। क्योंकि छोटी कारों की खरीद कम आय वर्ग वाले मध्यवर्गीय लोग करते हैं। हालांकि, गड़करी इसको लेकर पहले भी सवाल खड़े करते रहे हैं। उन्होंने कहा था कि ‘छोटी कारों की खरीद निम्न मध्यम आय वर्ग के लोगों द्वारा की जाती है। यदि उनकी कारों में एयरबैग नहीं होगा, तो दुर्घटना की स्थिति में उनकी जान जा सकती है। ऐसे में मैं सभी कार विनिर्माताओं से अपील करूंगा कि वे अपने वाहनों के सभी संस्करणों में कम से कम 6 एयरबैग उपलब्ध कराएं।

गडकरी ने लगाई थी फटकार

केंद्रीय मंत्री ने कहा था कि हमारे देश में गरीबों को भी पूरी सुरक्षा मिलनी चाहिए। अमीर लोगों के लिए आप आठ एयरबैग देते हैं और गरीबों को लिए आप सिर्फ दो-तीन एयरबैग की पेशकश करते हैं। ऐसा क्यों किया जाता है?

यात्रियों को भी रहना होगा सजग

गौरतलब है कि एक साल में राष्ट्रीय अपराध रिकॉर्ड ब्यूरो द्वारा प्रकाशित सड़क दुर्घटना के आंकड़ों के अनुसार, इन दुर्घटनाओं में 17,538 कार सवारों की मौत हुई, जो देश में कुल सड़क दुर्घटनाओं का लगभग 13% है। ऐसे में मंत्रालय के द्वारा सभी चार पहिया वाहनों में 6 एयरबैग लगाने के फैसले को काफी प्रगतिशील कदम माना जा सकता है। इसके अलावा यात्रियों को भी पहले से ज्यादा सजग रहने की जरूरत है। क्योंकि जब तक वे सीट बेल्ट नहीं लगाएंगे, तब तक उनका एयर बैग नहीं खुलेगा।

Share This

0 Comments

Leave a Comment

Login

Welcome! Login in to your account

Remember me Lost your password?

Lost Password