Alcohol Price: प्रदेश में फिर मंहगी हो सकती है शराब! कोरोना काल में हुआ 250 करोड़ का घाटा, सीएम की अहम बैठक…

भोपाल। प्रदेश सरकार नई आबकारी नीति बनाने की तैयारी कर रही है। इस नीति का खाका तैयार किया जा चुका है। इस नीति को आज दोपहर 3 बजे होने वाली कैबिनेट की मीटिंग में भी पेश किया जाएगा। इस कैबिनेट बैठक में इसे मंजूरी भी मिल सकती है। इस नई नीति के तहत सरकार शराब दुकानों का नवीनीकरण करने की तैयारी में है। जिन जिलों में ठेकेदार 10 फीसदी की वृद्धि पर सहमति नहीं देंगे, वहां छोटे-छोटे ग्रुप में टेंडर कराए जाएंगे।

बता दें कि इससे पहले भी इस तरह का प्रस्ताव कैबिनेट में पेश किया गया था। हालांकि उस प्रस्ताव में रिन्युअल फीस 5 प्रतिशत बढ़ाने की बात कही गई थी। इससे पिछले कैबिनेट की इस बैठक में यह निर्णय आगे के लिए बढ़ाया गया था। जानकारी के मुताबिक सरकार ने अब नई नीति के तहत लाइसेंस फीस 10 फीसदी बढ़ाकर 10 माह के लिए ठेके देने का प्रस्ताव तैयार किया है। इस प्रस्ताव को आज होने वाली कैबिनेट मीटिंग में रखा जाएगा। अगर यह प्रस्ताव पास हो जाता है तो शराब के दामों में बढ़ोत्तरी के आसार जताए जा रहे हैं।

सरकार को 250 करोड़ का घाटा…
कोरोना के चलते सरकार शराब दुकानें पिछले 10 अप्रै से बंद पड़ी हैं। हाल ही में कोरोना कर्फ्यू को देखते हुए इनके खुलने की संभावना भी कम ही दिख रही है। वहीं इसका सरकार की शराब से होने वाली आमदनी पर असर पड़ा है। सरकार को कोरोना के कारण करीब 250 करोड़ रुपए का नुकसान हो चुका है। सूत्रों के मुताबिक बताया जा रहा है कि लाइसेंस फीस बढ़ाने के बाद सरकार को 450 करोड़ की आय हो सकती है। इसी के बाद 10 फीसदी फीस बढ़ाने पर सहमति बन सकती है। बता दें कि कोरोना महामारी के संक्रमण को देखते हुए प्रदेश में कोरोना कर्फ्यू लगाया गया है। इसी के चलते शराब दुकानें भी लंबे समय से बंद हैं। दुकानों के बंद होने के कारण सरकार को भी राजस्व का घाटा उठाना पड़ रहा है।

Share This

0 Comments

Leave a Comment

Login

Welcome! Login in to your account

Remember me Lost your password?

Lost Password