Air India के पास नहीं बचा कोई विकल्प, 100% हिस्सेदारी बेचेगी सरकार- Hardeep Puri



अब प्राइवेट हाथों में सौपा जाएगा Air India, मंत्री पुरी बोले नहीं बचा सरकार के पास कोई विकल्प

नई दिल्ली। देश की कई कंपनियां निजी हाथों (Air India) में जा चुकी हैं। इस कड़ी में जल्द ही एयर इंडिया भी जल्द बिकने वाला है। माना जा रहा है कि एयर इंडिया का जल्द ही नया मालिक मिलेगा। इसके संकेत (Air India) नागरिक उड्डयन मंत्री हरदीप सिंह पुरी ने दे दिए हैं। एक बैठक में हरदीप पुरी ने कहा कि एअर इंडिया को जून के अंत तक नया मालिक मिल जाएगा। एक कार्यक्रम में बोलते हुए हरदीप सिंह पुरी ने कहा कि इस साल मई में वित्तीय निविदा का चयन कर लिया जाएगा और जून में संभावित खरीदार की घोषणा कर दी जाएगी।

 

60,000 करोड़ के कर्ज में डूबी एयर इंडिया

एयर इंडिया ने कहा, ‘हमने यह फैसला किया है कि एयर इंडिया में सरकार अपनी 100 प्रतिशत हिस्सेदारी बेचेगी. हमारे पास प्राइवेट करने या ना करने का विकल्प नहीं था. बल्कि ये विकल्प था कि इसे प्राइवेट कर दिया जाए या फिर कामकाज बंद कर दिया जाए. एयर इंडिया फर्स्ट रेट एसेट है लेकिन इस पर 60,000 करोड़ रुपये का कर्ज चढ़ गया है. हमें कर्ज का बोझ खत्म करना है

जून तक होगी एयर इंडिया ब्रिकी

बैठक के बाद केंदीय मंत्री हरदीप सिह पुरी ने कहा कि सरकारी विमान के निजीकरण में कोविड काल के कारण देरी हो गई है। उन्होंने कहा कि, वित्तीय निविदा मंगाने की प्रक्रिया जल्द शुरू की जाएगी। सरकार ने इस साल के अंत तक एअर इंडिया की बिक्री की प्रक्रिया पूरी करने का लक्ष्य तय किया है। जून में नए मालिकों का चुनाव होने के बाद 6 महीने में एअर इंडिया का प्रबंधन सौंप निजी दिया जाएगा।

Share This

Login

Welcome! Login in to your account

Remember me Lost your password?

Lost Password