Men Are Also Victims: पत्नी से परेशान हो होकर कोई संन्यासी बन गया था, तो किसी ने किन्नर बनकर ले ली तलाक

Indian Saint

Image Source- FB Banaras Home

नई दिल्ली। आए दिन हम पतियों द्वारा पत्नियों को प्रताड़ित करने की खबर समाचारों में पढ़ते रहते हैं। लेकिन बहुत कम ही ऐसा होता है जब पत्नी द्वारा पति को प्रताड़ित करने की खबर हमारे सामने आती हो। हालांकि ये भी सच है कि भारत एक पितृसत्तात्मक (Patriarchal) देश है, पुरूषों की तुलना में महिलाओं को यहां ज्यादा कठिनाईयां झेलनी पड़ती है। लेकिन ऐसे भी कई मामले सामने आए हैं जहां पत्नियों से परेशान हो कर पतियों ने कई अजीबो-गरीब और कड़े कदम उठाए हैं।

पत्नी से परेशान हो कर पति बन गया किन्नर

ये मामला अगस्त 2020 में प्रकाश में आया था। जब राजस्थान के जोधपुर में एक पति, पत्नी के तानों से तंग आकर किन्नर बन गया। जिसके बाद पत्नी ने पारिवारिक कोर्ट (Family court) में तलाक की अर्जी दाखिल कर दी और तीन साल बाद दोनों की आपसी सहमति से उनका तालाक हो गया। पति का कहना था कि उसकी पत्नी रोज ताने मारा करती थी। इसी से तंग आकर वो किन्नर (Shemale) बन गया। वहीं पत्नी का कहना था कि शादी के कुछ महिनों बाद से ही उसके पति का व्यवहार बदल गया था। वो अपना लिंग चेंज करवाना चाहता था। इसको लेकर दोनों में रोज झगड़े होते थे। यह सब चल ही रहा था कि शख्स की मुलाकात मुन्नी बाई नाम की एक किन्नर से हुई और उसने, मुन्नी को अपना गरू मान लिया।

पत्नियों से परेशान हो कर पति बन गए संन्यासी

दूसरा मामला मध्य प्रदेश के जबलपुर का है। जहां साल 2014 में पत्नियों की प्रताड़ना से तंग आकर पतियों ने संन्यास ले लिया। दरअसल, भारत में महिलाओं की सुरक्षा के लिए कई कड़े कानून बनाए गए हैं। लेकिन कई बार ऐसा होता है कि इन कानूनों की वजह से पुरूषों को प्रताड़ित होना पड़ता है। इन्हीं प्रताड़ना से तंग आकर जबलपुर में कई पतियों ने घर-बार छोड़कर संन्यास ले लिया। उस समय पांच सालों में करीब 5 हजार ऐसे मामले सामने आए थे जिसमें पत्नी ने थानों में शिकायत दर्ज करवाई गई थी और इससे परेशान होकर पतियों ने घर को छोड़ दिया था। वहीं कई लोग संन्यास ले कर नर्मदा तट पर बने मंदिरों में पूजारी बन गए।

कई ने मौत को लगाया गले

अक्सर हम सुनते आए हैं कि पति की हरकतो से परेशान होकर पत्नी ने खुदखुशी कर ली। लेकिन कई मामलों में पत्नी से परेशान होकर भी पति ने आत्महत्या की है। ताजा मामला यूपी के शाहजहांपुर का है जहां 30 वर्षीय सामाजिक कार्यकर्ता चंदन वर्मा ने पत्नी से परेशान होकर मौत को गले लगा लिया। उन्होंने अपने फेसबुक पोस्ट में पत्नी पर आरोप लगाया कि दोनो के बीच काफी लंबे समय से झगड़ा चल रहा था। इस कारण से वह तलाक लेना चाहता था लेकिन पत्नी इसके लिए राजी नहीं हो रही थी। उसका कहना था कि पहले मुझे 20 लाख रूपये दो फिर मैं तलाक दूंगी। इसी बात से परेशान हो कर चंदन ने जहर खा कर अपनी जान दे दी।

कानून का होता है गलत इस्तेमाल

महिला सुरक्षा के लिहाज से बनाए गए कई ऐसे कानून हैं जिसका गलत इस्तेमाल किया जाता है। कई पुरूष इसके शिकार हो जाते हैं सबसे ज्यादा मामला दहेज उत्पीड़न का सामने आता है। कई महिलाएं अपने पति के साथ मामूली विवाद होने पर भी थाने में दहेज उत्पीड़न के तहत केस दर्ज करवा देती है। इसका खामियाजा पतियों को भूगतना पड़ता है। हालांकि अधिकतर मामलों में ये कानून महिलाओं को प्रताड़ित होने से बचाता है।

Share This

0 Comments

Leave a Comment

Login

Welcome! Login in to your account

Remember me Lost your password?

Lost Password