PUBG के जरिए नाबालिग छात्रा से की दोस्ती, फिर तीन लड़कों ने 8 बार किया गैंगरेप

भोपाल: पब्जी गेम कितना खतरनाक हो सकता है। इसका एक चौकाने वाला उदाहरण राजधानी भोपाल में देखने को मिला। पब्जी गेम के जरिए दोस्ती करने के बाद एक नाबलिग से सामूहिक दुष्कर्म की वारदात को अंजाम दिया गया। घटना शहर के अशोका गार्डन थाना इलाके की है। पुलिस ने हालांकि तीनों आरोपी युवकों को गिरफ्तार कर लिया है, वहीं पुलिस का कहना है कि आरोपियों ने लॉकडाउन के समय ही कई बार नाबालिग से कई बार दुष्कर्म किया।

दरअसल, 6वीं क्लास में पढ़ने वाली 14 साल की छात्रा से 3 लड़कों ने गैंगरेप किया। आरोपियों ने पहले छात्रा से PUB-G पर दोस्ती की और उसके बाद उसे अपने जाल में फंसाकर उसके साथ सितंबर से अक्टूबर के बीच करीब 7 से 8 बार ब्लैकमेल कर लड़की को गौतम नगर बुलाकर उसके साथ सामूहिक दुष्कर्म किया।

वीडियो वायरल करने की धमकी देकर कई बार किया दुष्कर्म

एएसपी राजेश सिंह भदौरिया ने बताया कि आरोपियों ने नाबालिग को अपने जाल में फंसाकर दुष्कर्म करना शुरू किया। उन्होंने उसे धमकाते हुए कहा कि उसके वीडियो बना लिए। इसी वीडियो के नाम से छात्रा को बार-बार आरोपी ब्लैकमेल करते थे कि अगर वह किसी से कहेगी तो उसके वीडियो वायरल कर देंगे। इसी डर का फायदा उठाकर आरोपियों ने उसके साथ कई बार सामूहिक दुष्कर्म किया। इसमें मुख्य आरोपी फुजेल के साथ उसके दोस्त रिजवान और फरहान भी शामिल थे।

अपनी मां और छोटी बहन के साथ रहती है छात्रा

जानकारी के मुताबिक छात्रा के माता-पिता अलग-अलग रहते हैं। पिता ऐशबाग में रहते हैं और मां अशोका गार्डन में अपनी दोनों बेटियों के साथ रहती है। आर्थिक समस्याओं के कारण मां को नौकरी करनी पड़ रही है और उन्होंने बताया कि दोनों बेटियों को व्यस्त रखने के लिए उसे स्मार्टफोन दिलाया था जिससे की वह घर पर रहकर छोटी बहन का ख्याल रख सके।

मां उसे फोन देकर ऑफिस चली जाती थी

इसके बाद वह फोन पर क्या करती थी, उन्हें पता नहीं होता था। बच्ची को पहले पबजी गेम की लत पड़ी। यहीं से परिचितों के माध्यम से मुख्य आरोपी लड़के से उसकी पहचान हुई। पहचान होने के बाद उन्होंने मोबाइल नंबर शेयर किए। वॉट्सऐप चैटिंग होने लगी। फुजेल लड़की को फंसाकर पहली बार 5 सितंबर को अपने साथ गौतम नगर इलाके ले गया था। यहां उसने पहली बार लड़की से ज्यादती की थी। उसने किसी को कुछ बताने पर उसके वीडियो वायरल करने की धमकी भी दी थी। इसी कारण बच्ची ने किसी से कुछ नहीं कहा।

आरोपियों के मोबाइल से नहीं मिले अश्लील वीडियो

एएसपी भदौरिया ने बताया कि लड़की को आरोपियों ने उसके अश्लील वीडियो वायरल करने की धमकी देकर ब्लैकमेल किया। उसके साथ दुष्कर्म किया। पुलिस ने आरोपियों के मोबाइल जब्त किए हैं, लेकिन अब तक उनके मोबाइल पर किसी तरह का कोई वीडियो या फोटो नहीं मिले हैं। हो सकता है कि उन्होंने डिलीट कर दिए हैं। हम फॉरेंसिक जांच करवा रहे हैं, लेकिन आशंका यह है कि आरोपी बिना वीडियो के ही उसे डरा धमका रहे थे। इसके कारण बच्चे उनके जाल में फंस गई।

Share This

0 Comments

Leave a Comment

Login

Welcome! Login in to your account

Remember me Lost your password?

Lost Password