Ivermectin Medicine: कोरोना मरीजों के इलाज में इस दवा का न करें इस्तेमाल, जानिए WHO ने क्यों दी यह बड़ी चेतावनी

नई दिल्ली। देश में इस वक्त कोरोना की दूसरी लहर का प्रकोप जारी है। रोजाना करीब 4 लाख नए केस सामने आ रहे हैं। लोग अस्पताल से लेकर ऑक्सीजन के लिए भाग-दौड़ कर रहे हैं। इस वक्त दुनिया में कोरोना के इलाज के लिए कोई खास दवाई नहीं है। दूसरी बीमारियों के इलाज में इस्तेमाल होने वाली दवाइयां ही इस दौरान मरीजों को दी जाती है।

WHO ने दी इस्तेमाल को लेकर चेतावनी

विश्व स्वास्थ्य संगठन ने मंगलवार को एक बार फिर कोविड-19 मरीजों के इलाज में इस्तेमाल की जा रही दवाई- Ivermectin – के इस्तेमाल को लेकर चेतावनी दी है। आइवरमेक्टिन पैरासिटिक संक्रमण में खाई जाने वाली दवाई है। इसका इस्तेमाल कोविड मरीजों के इलाज में हो रहा है। WHO की मुख्य वैज्ञानिक डॉक्टर सौम्या स्वामीनाथन ने एक ट्वीट कर कहा कि ‘किसी भी नई बीमारी के लिए इस्तेमाल हो रही दवाइयों की सुरक्षा और प्रभावकारिता जरूरी होती है। WHO क्लीनिकल ट्रायल के इतर कोविड के इलाज में आइवरमेक्टिन के इस्तेमाल के खिलाफ है।

क्यों दी गई चेतावनी?
बता दें कि इस साल फरवरी में मर्क ने कोरोना के मरीजों पर आइवरमेक्टिन के इस्तेमाल को लेकर रिपोर्ट छापी थी। इसके मुताबिक क्लीनिकल ट्रायल में इस बात के कोई प्रमाण नहीं मिले हैं कि ये दवाई कोरोना के मरीजों पर काम करती है। साथ ही कंपनी की तरफ से वैज्ञानिकों ने भी कहा था कि ये दवा क्लीनिकल ट्रायल में कितनी सुरक्षित है इसके डेटा भी नहीं मिले हैं। अमेरिका में ये दवा STROMECTOL के नाम से मिलती है। दावा किया गया है कि इसके कई गंभाीर साइड इफेक्ट हैं। पिछले दो महीने के दौरान WHO ने दूसरी बार आइवरमेक्टिन के इस्तेमाल को लेकर चेतावनी दी है।

Share This

0 Comments

Leave a Comment

Login

Welcome! Login in to your account

Remember me Lost your password?

Lost Password