खंडवा: यहां बेटियों को है बराबरी का अधिकार, 500 साल से यहां दुल्हन लेकर जाती है बारात

Khandwa

भोपाल। मप्र एक ऐसा राज्य है जहां, कई परंपराएं हैं। इन परंपराओं में से कुछ अजब-गजब हैं तो कुछ काफी प्रेरणादायक। एक ऐसी ही परंपरा खंडवा जिले के पाटीदार समाज में बीते 500 साल से जारी है। यहां लड़कियां घोड़े पर सवार होकर बारात दूल्हे के घर लेकर जाती हैं।

Khandwa

लड़के घोड़ी पर चढ़कर ले जाते हैं बारात

आमतौर पर हमने देखा है कि लड़के घोड़ी पर सवार होकर अपनी बारात दूल्हन के घर लेकर जाते हैं। लेकिन खंडवा की यह परंपरा हमें बहुत सारे सिख सिखाती है। भारत में एक तरफ जरूर बेटी बचाओं बेटी पढ़ाओं का नारा दिया जाता है। लेकिन वास्तविकता से हम सब वाकिफ हैं कि बेटियों को किस तरह से देखा जाता है।

Khandwa

क्या कहते हैं समाज के लोग

पाटीदार समाज के लोग इस परंपरा को लेकर कहते हैं कि हम 400-500 साल पहले से इसे मानते आ रहे हैं। देश में बेटियों के साथ समान व्यवहार नहीं किया जाता। हम अपनी परंपरा के माध्यम से ये संदेश देना चाहते हैं कि बेटियों को भी समान अधिकार मिलना चाहिए।

Khandwa

आम शादियों की तरह ही इसमें शामिल होते हैं बाराती

यहां दुल्हन घोड़े पर सवार, हाथों में तलवार और सिर पर साफा बांधकर अपनी बारात लेकर जाती हैं। आम शादियों की तरह ही इसमें बाराती शामिल होते हैं और नाचते गातें हुए दुल्हें के घर जाते हैं।

Share This

0 Comments

Leave a Comment

Login

Welcome! Login in to your account

Remember me Lost your password?

Lost Password