Awadhesh Pratap Singh University : लोकायुक्त टीम की कार्रवाई,रिश्वतखोर उपयंत्री गिरफ्तार

Lokayukta team

भोपाल। रीवा की अवधेश प्रताप सिंह यूनिवर्सिटी में rewa Lokayukta team action पदस्थ उपयंत्री को लोकायुक्त ने गिरफ्तार किया है। रिश्वतखोरी के मामले को लेकर लोकायुक्त ने ये कार्रवाई की है। दरअसल Awadhesh Pratap Singh University  यूनिवर्सिटी परिसर में पार्क निर्माण का 8 लाख रुपए का बिल बकाया था, इस बिल के एवज में निर्माण शाखा में पदस्थ उपयंत्री कृष्ण मोहन त्रिपाठी ने कॉन्ट्रेक्टर से रिश्वत की मांग की थी। कॉन्ट्रेक्टर सुतीक्षण सोहगौरा से 50 हजार की रिश्वत मांगी गई, जिसकी शिकायत उसने लोकायुक्त में की। वहीं शिकायत के बाद कार्रवाई करते हुए लोकायुक्त पुलिस ने रिश्वतखोर उपयंत्री को रंगे हाथों गिरफ्तार कर लिया है।

काली कमाई के कारनामे आए दिन सामने आते रहते हैं
मध्यप्रदेश में भ्रष्ट अधिकारियों और कर्मचारियों की काली कमाई के कारनामे आए दिन सामने आते रहते हैं और यही कारण है कि उनके ऊपर गाज भी गिरती है ऐसे पर भी वह काली कमाई करने से बाज नहीं आते। रीवा जिले के अवधेश प्रताप सिंह विश्वविद्यालय से जहां विश्वविद्यालय के निर्माण शाखा में पदस्थ उपयंत्री कृष्ण मोहन त्रिपाठी के द्वारा संविदाकार से बिल पास कराने की एवज में 50 हजार रुपए रिश्वत की मांग की गई थी जिसके बाद पीड़ित ने इसकी शिकायत लोकायुक्त पुलिस को की और लोकायुक्त पुलिस की टीम ने बड़ी कार्यवाही करते हुए भ्रष्ट उपयंत्री को रिश्वत की रकम लेते हुए रंगे हाथों ट्रैप किया है।

ये है मामला
दरअसल वर्ष 2016 17 में अवधेश प्रताप सिंह विश्वविद्यालय के भीतर संविदा कार सुतीक्षण सोहगौरा के द्वारा स्वर्ण जयंती पार्क का निर्माण कराया गया था जिसकी कुल लागत 8 लाख रुपए है और अब इस लागत के बिल को पास कराने के लिए पीड़ित कार्यालयों के चक्कर काटने लगे थे। उपयंत्री ने 4 किस्तों की बिल का तीन किस्त पास कर दिया था और चौथी किस्त पास करने के लिए पूरे रकम की 5% कीमत यानी 50 हजार रुपए रिश्वत के तौर पर मांग कर दी जिसके बाद पीड़ित ने इसकी शिकायत लोकायुक्त पुलिस को की और लोकायुक्त पुलिस की टीम ने आरोपी उपयंत्री को धर दबोचा ।

Share This

0 Comments

Leave a Comment

Login

Welcome! Login in to your account

Remember me Lost your password?

Lost Password