Bhopal: लेडी डॉन श्रुति शर्मा की कहानी, जिसने इंजीनियरिंग छोड़ क्राइम की दुनिया को चुना

Bhopal: लेडी डॉन श्रुति शर्मा की कहानी, जिसने इंजीनियरिंग छोड़ क्राइम की दुनिया को चुना

Bhopal Lady Don Shruti Sharma

भोपाल। आज हम स्टोरी ऑफ द डे में बात करने वाले हैं 2018 में अचानक से चर्चा में आई लेडी डॉन श्रुति शर्मा की। उसके जब कारनामें सामने आए तो लोगों के होश उड़ गए थे। तो चलिए आपको बताते हैं कि कैसे इंजीनियरिंग की पढ़ाई करने वाली और अच्छे घराने से ताल्लुक रखने वाली एक लड़की भोपाल की लेडी डॉन बन गई।

सनक ने डॉन बना दिया

श्रुति को अगर आप सामने से देखेंगे तो आपको उसके कारनामों का पता भी नहीं चलेगा। मासुम सी दिखने वाली श्रुती दरअसल, इंजीनियर बनना चाहती थी। लेकिन उसके सनक ने उसे एक लेडी डॉन बना दिया। सबसे पहले साल 2018 में वो चर्चा में आई थी। जब भोपाल के एक मेडिकल कॉलेज के छात्र ने खुदकुशी कर ली थी। इस मामले में श्रुति शर्मा और शालीन उपाध्याय को मुख्य आरोपी बनाया गया था।

ब्लैकमेल करती थी श्रुति

मेडिकल स्टूडेंट यश पाठे के परिजनों ने घटना के बाद श्रुति और उसके कुछ दोस्तों पर आरोप लगाया था कि वह कॉलेज में लड़कों को ड्रग्स सफ्लाई करती थी। कुछ बात को लेकर जब इन लोगों में विवाद हुआ तो श्रुति ने यश को ब्लैकमेल करना शुरू कर दिया। जिसके बाद उसने खुदकुशी कर ली। जैसे ही घटना के बाद श्रुति और शालीन का नाम आया, दोनों फरार हो गए।

पुलिस ने पुणे से किया था गिरफ्तार

घटना के करीब 15 दिन बाद भोपाल पुलिस को उसकी भनक लगी। दोनों आरोपी पुणे में छिपकर रह रहे थे। पुलिस ने सीधे उस फ्लैट पर धाबा बोल दिया। गिरफ्तार करने गई पुलिस उसे देखकर हैरान थी। क्योंकि गिरफ्तारी के बाद भी श्रुति के चेहरे पर कोई शिकन नहीं थी। उसने गिरफ्तारी के बाद पुलिस से कहा मैं ड्रग्स नहीं लेती चाहों तो मेरा डीएनए टेस्ट करवा लो।

मेडिकल कॉलेज के लड़कों से करती थी दोस्ती

दरअसल, उसकी बहन मेडिकल कॉलेज की स्टूडेंट थी। इस कारण से उसका वहां आना-जाना लगा रहता था। इसी दौरान श्रुति ने कई लड़को से दोस्ती कर ली और कहा जाता है कि वो उन लड़को को ड्रग्स सफ्लाई करती थी। मेडिकल कॉलेज के स्टूडेंट उसे दीदी कहकर बुलाते थे। श्रुति ने इन स्टूडेंट्स से ऐसा बनाकर रखा था कि उसके इशारे पर ये लोग मार-पीट करने को तैयार रहते थे। जिस छात्र ने खुदकुशी की थी उसकी पिटाई भी श्रुति ने इन लड़को से ही करवाई थी।

कोर्ट ने इस मामले में चंद दिनों में दे दी थी जमानत

हालांकि कोर्ट ने श्रुति को इस मामले में चंद दिनों में ही जमानत दे दी थी। कोर्ट का कहना था उसके खिलाफ कोई सबूत नहीं मिले हैं। वहीं यश के परिजनो का कहना था कि उसे उसके परिवार के राजनीतिक रसूख का फायदा मिला इस कारण से उसे जमानत दे दी गई। मालूम हो कि श्रुति कोई छोटे-मोटे घर की लड़की नहीं है। उसके पिता विधानसभा के पूर्व सचिव रहे हैं।

बिल्डर के बेटे का किया अपहरण

इस घटना के बाद श्रुति कुछ दिनों तक शांत रही। लेकिन उसने एक बार फिर नवंबर 2018 में एक बिल्डर के बेटे का अपहरण कर लिया। अपहरण के बाद उसने लडके की पिटाई भी की और वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल कर दिया। हालांकि उसने लड़के को ज्यादा देर तक अपने कब्जे में नहीं रखा और चलती कार से उसे सड़क पर फेंक कर भाग गई।

सनक में कुछ भी करती थी

श्रुति को जानने वाले लोग कहते हैं कि वो खुद को लेडी डॉन घोषित करवाना चाहती थी। इस कारण से वीडियो सूट करवा कर वायरल करती थी। सनक में वो कुछ भी करती। बीच सड़क पर पटाखे फोड़ कर लोगों को परेशान करती और अगर किसी ने उसके खिलाफ अवाज उठाया तो फिर उसकी पिटाई करवाती थी। उसे लेडी डॉन बनने का शौक था। इस कारण से उसने इंजिनियरिंग की पढ़ाई भी बीच में छोड़ दी थी।

Share This

0 Comments

Leave a Comment

Login

Welcome! Login in to your account

Remember me Lost your password?

Lost Password