‘तांडव’ की टीम ने बिना शर्त माफी मांगी, कहा भावनाएं आहत करने का कोई इरादा नहीं

मुंबई, 18 जनवरी (भाषा) अमेजन प्राइम वीडियो पर प्रसारित ‘तांडव’ वेब सीरीज के एक दृश्य को लेकर शुरू हुए विवाद के मामले में इसके निर्माताओं ने सोमवार को कहा कि अगर गैर-इरादतन तरीके से इससे लोगों की भावनाएं आहत हुई हैं तो वे बिना शर्त माफी मांगते हैं।

इस सीरीज में हिंदू देवताओं के चित्रण को लेकर विवाद खड़ा हो गया है।

शो के निर्देशक अली अब्बास जफर ने ‘हमारी ओर से गंभीरता के साथ माफी’ कैप्शन के साथ बयान ट्वीट किया और इसे ‘तांडव’ के कास्ट एवं क्रू की ओर से आधिकारिक बयान बताया गया।

इसमें कहा गया कि ‘तांडव’ की टीम सीरीज पर दर्शकों की प्रतिक्रियाओं पर करीब से नजर रख रही है।

वक्तव्य में कहा गया, ‘‘आज एक चर्चा के दौरान सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय ने हमें बताया कि उन्हें वेब सीरीज के विभिन्न पहलुओं को लेकर बड़ी संख्या में शिकायतें और अर्जियां मिली हैं जो इसकी सामग्री द्वारा लोगों की भावनाओं को आहत करने संबंधी गंभीर चिंताओं और आशंकाओं के बारे में हैं।’’

वक्तव्य में कहा गया, ‘‘तांडव काल्पनिक कहानी पर आधारित है और किसी भी गतिविधि, व्यक्ति या घटना से इसकी समानता होना विशुद्ध संयोग है।’’

इसमें कहा गया, ‘‘इसके निर्माताओं और कलाकारों का किसी व्यक्ति, जाति, समुदाय, धर्म की भावनाओं या धार्मिक आस्थाओं को आहत करने या किसी संस्था, राजनीतिक दल अथवा व्यक्ति (जीवित या मृत) का अपमान करने का कोई इरादा नहीं था।’’

इसमें कहा गया, ‘‘तांडव की पूरी यूनिट लोगों द्वारा जताई गयी चिंताओं पर संज्ञान लेती है और यदि इससे गैर-इरादतन तरीके से किसी व्यक्ति की भावनाओं को चोट पहुंची है तो हम बिना शर्त माफी मांगते हैं।’’

शो पर शुरू हुए विवाद के केंद्र में एक दृश्य है जिसमें कॉलेज छात्र शिवा का किरदार अदा कर रहे मोहम्मद जीशान अय्यूब को एक नाटक में भगवान महादेव का चित्रण करते हुए दिखाया गया है।

शिकायतों पर संज्ञान लेते हुए सूचना और प्रसारण मंत्रालय ने रविवार को इस विषय पर अमेजन प्राइम वीडियो से स्पष्टीकरण मांगा था।

मंत्रालय में एक सूत्र ने कहा था, ‘‘मंत्रालय ने मामले (शिकायतों) पर संज्ञान लिया है और अमेजन प्राइम वीडियो से स्पष्टीकरण को कहा।’’

मुंबई उत्तर-पूर्व से भाजपा सांसद मनोज कोटक, मध्य प्रदेश सरकार के मंत्री विश्वास सारंग तथा राज्य विधानसभा के प्रोटेम अध्यक्ष रामेश्वर शर्मा समेत कुछ नेताओं ने सूचना और प्रसारण मंत्री प्रकाश जावडेकर से वेब सीरीज पर रोक लगाने की मांग की थी।

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के मीडिया सलाहकार शलभमणि त्रिपाठी ने कहा कि ‘तांडव’ के निर्माताओं को धार्मिक भावनाएं आहत करने की कीमत चुकानी होगी।

इस मामले में लखनऊ के हजरतगंज थाने में प्राथमिकी दर्ज होने के बाद उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश पुलिस के चार सदस्य मामले में विस्तृत जांच के लिए मुंबई रवाना हो चुके हैं।

त्रिपाठी ने कहा, ‘‘उत्तर प्रदेश पुलिस एक कार में मुंबई के लिए रवाना हो गयी है। प्राथमिकी में कठोर धाराएं हैं। तैयार रहो, धार्मिक भावनाएं आहत करने के लिए कीमत अदा करनी होगी।’’

भाषा वैभव माधव

माधव

Share This

0 Comments

Leave a Comment

Login

Welcome! Login in to your account

Remember me Lost your password?

Lost Password