बैंक फ्रॉड में पकड़े गए कारोबारी की 31.83 करोड़ संपत्ति कुर्क, 2018 में हुई थी गिरफ्तारी

Image source: bhaskar.com

रायपुर: प्रवर्तन निदेशालय (ED) ने छत्तीसगढ़ में एक बड़ी कार्यवाई की है। बैंक फ्रॉड मामले में गिरफ्तार सुभाष शर्मा से जुड़ी 31 करोड़ 83 लाख रुपये की संपत्ति कुर्क की गई है। सुभाष शर्मा पर मनी लांड्रिंग के मामले में कार्रवाई की गई है। इससे पहले ED ने शर्मा से जुड़ी करीब 7 करोड़ 85 लाख रुपये मूल्य की संपत्ति को अटैच किया गया था।

मामले में ED के अधिकारियों का कहना है कि, सुभाष शर्मा ने बड़े पैमाने पर फर्जी तरीके से ऋण लिया आर बाद में इस कर्ज को अपनी अलग-अलग कंपनियों में हस्तांतरित कर दिया। सुभाष शर्मा के खिलाफ रायपुर के गोल बाजार और सिविल लाइन थाने में अपराध दर्ज थे। 2015 में विक्रम राणा नामके शख्स ने गोल बाजार थाने में शर्मा के खिलाफ धोखाधड़ी की शिकायत की थी। उसके मुताबिक सुभाष शर्मा ने राणा की जमीन पर पंजाब नेशनल बैंक से करीब साढ़े 16 करोड़ का कर्ज लिया था। किश्ते अदा नहीं होने पर बैंक ने राणा को नोटिस भेजा। उसके बाद इस फ्राड की जानकारी हुई, इस मामले में गोल बाजार पुलिस ने अप्रैल 2018 में उसे गिरफ्तार किया है।

इन संपत्तियों को किया कुर्क

जानकारी के मुताबिक, ED ने 29.65 करोड़ रुपए की मेसर्स छत्तसीगढ़ स्टील एंड पॉवर लिमिटेड के फेरो अलायंस यूनिट के संयत्र और मशीनरी को अटैच किया है। वहीं रायपुर के पुरैना गांव में बताई गई करीब सवा दो करोड़ की जमीन को भी कुर्क किया गया है, जो सुभाष शर्मा की ही शैल कंपनी मेसर्स सौम्य प्रकाशन लिमिटेड के नाम पर दर्ज है।

Share This

0 Comments

Leave a Comment

Login

Welcome! Login in to your account

Remember me Lost your password?

Lost Password