'राजनीति'

मध्य प्रदेश बीजेपी के 40 लाख सदस्य मिसिंग, नहीं मिल रहे मिस्ड कॉल देने वाले कार्यकर्ता, महासंपर्क अभियान में खुली पोल।

6/10/2015 12:00:00 AM

मध्य प्रदेश में बीजेपी के चालीस लाख सदस्य मिसिंग हैं। जी हां  पार्टी का सदस्य बनने के लिए इन लोगों ने मिस कॉल तो किया, लेकिन अब उनका कहीं पता नहीं चल पा रहा है। मिस्ड कॉल करने वाले इन सदस्यों ने पता और पिन नंबर का एसएमएस भी नहीं किया है। सदस्यों के वेरीफिकेशन के लिए पार्टी कार्यकर्ता महासंपर्क अभियान चला रहे हैं। लेकिन अब उनके सामने इन लापता सदस्यों को तलाशने की समस्या खड़ी हो गई है।

मुसीबत का सबब बना मिस्ड कॉल फार्मूला

दुनिया की सबसे बड़ी पार्टी बनने के लिए बीजेपी ने मिस्ड कॉल का जो फार्मूला अपनाया। अब वही मुसीबत का सबब बन गया है। मध्य प्रदेश बीजेपी ने मिस्ड कॉल के जरिए प्रदेश में एक करोड़ सदस्य बनाने का दावा किया था। इन सदस्यों को अपना पता और पिन कोड एसएमएस करना था। लेकिन चालीस फीसदी यानी चालीस लाख सदस्यों ने अब तक एसएमएस नहीं किया है। केंद्रीय संगठन ने महासंपर्क के लिए कार्यकर्ताओं को फोन नंबर की सूची थमा दी है। इन फोन नंबर के आगे सिर्फ नाम लिखा है अब पार्टी पदाधिकारियों के लिए शहर में नाम से किसी व्यक्ति को खोजना मुश्किल हो गया है।

सदस्यों के वेरीफिकेशन के लिए चला अभियान


प्रदेश बीजेपी कहती है कि प्रदेश में सदस्यों के वेरीफिकेशन के लिए ही महासंपर्क अभियान चलाया जा रहा है। इस अभियान के जरिए एक एक सदस्य तक पहुंचकर उनके न सिर्फ एसएमएस करवाया जाएगा बल्कि फार्म भी भरवाया जाएगा। लेकिन इस अभियान से जुड़े नेताओं ने जब उन नंबर पर फोन लगाया तो कई नंबर बंद मिले और कई नंबरों पर कोई जवाब नहीं मिला।

जबरन सदस्य बनाने का आरोप


महासंपर्क अभियान में एक और रोचक बात सामने आ रही है। इस अभियान के कार्यकर्ताओं से कई लोगों ने यहां तक कहा कि उन्हें बीजेपी के नेताओं ने जबरन सदस्य बनाया इसलिए अब वो एसएमएस नहीं करेंगे। गौरतलब है कि एक करोड़ का टारगेट पूरा करने के लिए बीजेपी नेताओं ने स्कूल, काॅलेज, घर, दफ्तर, ठेला वाले यहां तक कि मजदूरों को भी सदस्य बनवा दिया था।



Select Rate

Post Comment
 
Enter Code:
सम्बधित खबरे

देखें अन्य वीडियो

देखें अन्य फोटो