'राजनीति'

नासिक से भोपाल लौटे सीएम, एयरपोर्ट पर दिखाई दिया सियासी नजारा, सीएम ने एकबार फिर दिए संकेत, आलोक शर्मा होंगे मेयर पद के उम्मीदवार!

1/3/2015 12:00:00 AM

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान नए साल की छुट्टियां मनाकर नासिक से सीधे भोपाल पहुंचे। सीएम ने कहा कि, नए साल में प्रदेश विकास के नए आयाम छुएगा। सरकार इन्वेस्टेमेंट और स्किल डेवलपमेंट पर खास फोकस कर रही है। सीएम ने कहा कि, सरकार ने आने वाले बजट की तैयारी भी शुरू कर दी है। साल 2015 को पर्यटन वर्ष के रूप में मनाया जाएगा। भोपाल आते ही सीएम सीधे मंत्रालय पहुंचे और अधिकारियों की बैठक ली।

नीति आयोग वक्त की जरूरत-सीएम

सीएम ने योजना आयोग को बदलकर नीति आयोग के पीएम के फैसले को वक्त की जरूरत बताया। सीएम ने कहा कि, इसके जरिए अब विकास की बेहतर प्लानिंग हो सकेगी। इसमें राज्य के मुख्यमंत्रियों को भी सदस्य बनाया जाएगा। सीएम ने चार नगरीय निकाय में बीजेपी की जीत का भी दावा किया। सीएम ने कहा कि, बीजेपी के समर्थन में जनता है और पार्टी की जीत में कोई संदेह नहीं है।
 

एयरपोर्ट पर दिखाई दिया सियासी नजारा
 
अब तक तो केवल इशारों-इशारों में ही कहा जा रहा था कि, आलोक शर्मा भोपाल मेयर पद के उम्मीदवार हैं। लेकिन अब काफी हद तक ये साफ हो गया है कि, आलोक ही मेयर पद के दावेदार होंगे। मुख्यमंत्री नए साल की छुट्टियां मनाकर जब भोपाल लौटे तो एयरपोर्ट का जो सियासी नजारा देखने को मिला वो कुछ ऐसी ही कहानी बयां कर गया।
 

इशारों-इशारों में बनी बात !
 
भोपाल का स्टेट हैंगर, जहां सियासतदान एक साथ इकट्ठे हो और माहौल चुनाव का हो तो सियासत के अलावा क्या बाते हो सकती है। ऐसा ही दिखाई दिया। जैसे ही सीएम स्टेट हैंगर पर उतरे तो नेताओं के बीच जो कुछ बातचीत हुई, उसने इस बात को और ज्यादा पुख्ता कर दिया। बात खुलकर तो कुछ नहीं हुई, लेकिन संकेतों में बहुत कुछ साफ हो गया। यदि ये कहा जाए कि, आंखों ही आंखों में इशारा हो गया, तो गलत नहीं होगा। इसके बाद जो बयान मीडिया के सामने दिए गए, वो भी इशारा कुछ यही कर रहे थे। दरअसल राजनीतिक तौर पर देखे तो ये इतना आसान नहीं था। पहले विधायक और फिर सांसद का टिकट भी आलोक शर्मा को नहीं मिला। उसकी वजह रहा अंदरुनी तौर पर उनका विरोध। लेकिन इस बार विरोध के सुर ना सुनाई दे, इसलिए सीएम ने ना केवल आलोक को अपने साथ रखा। बल्कि जो विरोधी थे उनके भी सुर बदलवा दिए।
 

दूसरे दावेदार भी सीएम से मिले
 
हालांकि सीएम से मिलने वालों में दूसरे दावेदार भी थे। जिसमें पूर्व विधायक रमेश शर्मा गुट्टू भैया थे। तो प्रकाश मीरचंदानी भी। लेकिन ये नेता पीछे ही रहे। सामने तो वही चेहरे रहे, जिनका अंदाज आगे के लिए अंदाजा लगाने के लिए कई संकेत दे गया।


Select Rate

Post Comment
 
Enter Code:
सम्बधित खबरे

देखें अन्य वीडियो

देखें अन्य फोटो