'राज्य'

"राम" से कन्नी काटकर मंदिर की परंपरा को तोड़ गए प्रवीण तोगड़िया

7/10/2018 12:00:00 AM

इंदौरः कभी राम के नाम पर राजनीति करने वाले विश्व हिंदू परिषद के पूर्व अध्यक्ष प्रवीण तोगड़िया ने राम से ही किनारा करते नजर आए। इंदौर के राम निराला मंदिर में प्रवेश के लिए 108 बार राम का नाम लिखना जरूरी है। प्रवीण तोगड़िया मंगलवार को मंदिर पहुंचे, तो पुजारी ने परंपरा का ध्यान दिलाया। जब जोर दिया तो प्रवीण तोगड़िया ने सिर्फ एक बार राम का नाम लिखा और बाकी नाम पुजारी को लिखने के लिए बोल दिए । इतना ही नहीं मंदिर से बाहर निकलने पर भी एक श्रद्धालु ने उन्होंने राम का नाम ना लिखने के बारे में पूछा, तो यहां भी कन्नी काटकर निकल गए।


मामला इंदौर का है जहां संचार नगर स्थित राम का निराला धाम मंदिर में प्रवेश के लिए 108 बार राम का नाम लिखने की परंपरा है। मंदिर में जगह-जगह राम नाम लिखने की शर्त वाले बोर्ड लगाए गए हैं। तोगड़िया यहां दर्शन करने पहुंचे, तो हाथ जोड़कर राम नाम लिखे बिना ही अंदर जाने लगे। मंदिर के पुजारी प्रकाश वागरेचा ने जोर देकर कहा कि राम नाम तो लिखना ही पड़ेगा। तब उन्होंने खड़े-खड़े ही बेमन से एक बार श्रीराम लिखकर खानापूर्ति कर दी। उन्होंने पुजारी से भेंट स्वरूप श्रीरामचरित मानस तो ले ली, लेकिन 108 बार राम नाम नहीं लिखा। मंदिर के पुजारी ने जब राम मंदिर की परंपरा के बारे में तोगड़िया को बताया, तो उन्होंने सिर्फ एकबार राम नाम लिखकर पंडितजी को इसे पूरा करने का कह दिया। 


Select Rate

Post Comment
 
Enter Code:
सम्बधित खबरे

देखें अन्य वीडियो

देखें अन्य फोटो