'राज्य'

BJP में सबकुछ ठीक नहीं, कई जगहों से सामने आई गुटबाजी !

09 Jul 2018


भोपालः मध्यप्रदेश बीजेपी में क्या सबकुछ ठीक नहीं चल रहा ? तो इसका जवाब हां हो सकता है। दरअसल, जुलाई के शुरुआत में जो घटनाक्रम सामने आए है, वो यही बता रहे हैं। चाहे बात जावद, शाजापुर की हो या फिर भोपाल में पार्षद विधायक विवाद मामला हो।

पहले जावद के विधायक ओमप्रकाश सकलेचा को उल्टे पैर लौटाना। फिर शुजालपुर में सांसद मनोहर ऊंटवाल को काले झंडे दिखाना। बुरहानपुर में नंदकुमार सिंह चौहान का मंच छोड़ देना और उसके बाद ताजा तरीन मामला। राजधानी भोपाल में पार्षद और विधायक के बीच खुलेआम विवाद का सामने आना। क्या ये बताने को काफी नहीं है, कि पार्टी में कुछ तो है जो ठीक नहीं है। ये बात बीजेपी के सर्वे में भी सामने आई है, कि जनता जनप्रतिनिधियों से परेशान है और इससे पार्टी की चिंता बढ़ रही है। वहीं दबे स्वर में ही सही, पार्टी का कहना है कि जल्द ही सबकुछ ठीक कर लिया जाएगा।

मध्यप्रदेश में राजनीति का इतिहास देखें, तो गुटबाजी के आरोप हमेशा कांग्रेस पर लगते रहे हैं। लेकिन इस बार सवाल बीजेपी पर उठ रहे है, तो कांग्रेस इस मौके को भुनाने में जुट गई है। उसके मुताबिक बीजेपी के नेता फ्रस्ट्रेट हो गए हैं और जनता इनसे परेशान है।


जावद में विधायक, शुजालपुर में सांसद, बुरहानपुर में नंदकुमार सिंह चौहान या फिर भोपाल में पार्षद विधायक का झगड़ा। ये सभी मामले इसी महीने के हैं, लेकिन अगर सालभर में हुई घटनाओं पर नजर डालें तो ऐसे दर्जनों मामले निकलकर सामने आ जाएंगे, जिसमे बीजेपी की गुटबाज़ी और जनता का सीधा विरोध सामने आ चुका है।



Select Rate

Post Comment
 
Enter Code:
सम्बधित खबरे

loading...

देखें अन्य वीडियो

देखें अन्य फोटो