'छत्तीसगढ़ राज्य'

"हाथी" की सवारी करेंगे जोगी, राज्य में खड़ा हुआ तीसरा मोर्चा !

05 Jul 2018


रायपुरः चुनाव से पहले छत्तीसगढ़ में कांग्रेस के लिए परेशानी बढ़ सकती है। जनता कांग्रेस और बसपा एक चुनाव लड़ सकती है। कल दिल्ली में बसपा प्रमुख मायावती और अजीत जोगी के बीच बंद कमरे में हुई मुलाकात के बाद एक नए समीकरण के संकेत मिले रहे हैं। बताया जा रहा है कि दोनों के बीच तकरीबन एक घंटे मुलाकात हुई। इस दौरान विधायक अमित जोगी भी मौजूद थे। माना जा रहा है दोनों पार्टियों के बीच 2018 के विधानसभा चुनाव और 2019 के आम चुनाव को लेकर चर्चा हुई। बता दें, बसपा के पूर्व अध्यक्ष कांशीराम से अजीत जोगी के गहरे रिश्ते रहे हैं। जोगी की मायावती से भी निकटता रही है। जोगी की प्रदेश में अनुसूचित जाति वर्ग में खासी पैठ है वहीं ये वर्ग बसपा का भी बड़ा वोट बैंक रहा है। पिछले विधानसभा चुनाव में बसपा में  4 फीसदी से ज्यादा वोट मिले थे।


छत्तीसगढ़ में तीसरे मोर्चे की सुगबुगाहट के बीच मध्यप्रदेश में भी गठबंधन की भी कयास लगाए जा रहे हैं। एमपी में तीसरे मोर्चा से ज्यादा, कांग्रेस और बसपा के साथ चुनाव लड़ने पर फैसला हो सकता है। कमलनाथ के अध्यक्ष बनने के बाद से कयास लगाए जाने लगे थे कि, कांग्रेस-बसपा के साथ चुनाव लड़े, क्योंकि कमलनाथ और मायावती के बीच अच्छे राजनीति रिश्ते हैं। इसके अलावा दबी जुबान एक और विकल्प पर चर्चा हो रही है वो है बसपा और गोणवाना गणतंत्र पार्टी के बीच अलायंस कि, .पिछले विधानसभा चुनाव में बसपा का वोट प्रतिशत 6 फीसदी से ज्यादा रहा था।


Select Rate

Post Comment
 
Enter Code:
सम्बधित खबरे

loading...

देखें अन्य वीडियो

देखें अन्य फोटो