'देश'

ताजमहल विवादः SC ने कहा, "वक्त बर्बाद मत करो"

4/17/2018 12:00:00 AM

ताजमहल पर मालिकाना हक होने का दावा  करने वाले सुन्नी वक्फ बोेर्ड मंगलवार को सुप्रीम कोर्ट में शाहजहां के दस्तखत वाला वक्फनामा पेश नहीं कर पाया। बोर्ड ने कहा, "ताजमहल का असली मालिक खुदा है। जब कोई संपत्‍ति वक्फ को दी जाती है तो वो खुदा की संपत्‍ति हो जाती है।" इस पर चीफ जस्टिस ने कहा कि, बोर्ड अदालत का वक्त बर्बाद कर रहा है। बता दें कि, बोर्ड ने पिछली सुनवाई के दौरान कोर्ट में दावा किया कि मुगल बादशाह शाहजहां ने बोर्ड के पक्ष में इसका वक्फनामा किया था। इस पर सुप्रीम कोर्ट ने सबूत के तौर पर शाहजहां के दस्तखत वाले दस्तावेज को कोर्ट में पेश करने का आदेश दिया। ताज महल पर हक को लेकर सुन्नी वक्फ बोर्ड और आर्कियाेलॉजिकल सर्वे ऑफ इंडिया (एएसआई) के बीच विवाद चल रहा है।



फीकी दिखी बोर्ड की दावेदारी



ताजमहल पर अपना मालिकाना हक जताने वाले वक्फ बोर्ड का रुख नरम नजर आया। वक्फ बोेर्ड ने चीफ जस्टिस दीपक मिश्रा की अध्यक्षता वाली बेंच के सामने कहा कि, उसे ताजमहल को एएसआई की देख-रेख में बनाए रखने में कोई दिक्कत नहीं है, लेकिन बोर्ड का यहां नमाज और उर्स जारी रखने का अधिकार बरकरार रहे। हालांकि, वख्फ बोर्ड ने कोर्ट में एक बार फिर दावा किया कि, ताजमहल पर उसका हक है। वहीं, एएसआई ने इसके लिए समय मांगा है। फिलहाल, मामले को लेकर सुप्रीम कोर्ट में अगली सुनवाई 27 जुलाई को की जाएगी।


Select Rate

Post Comment
 
Enter Code:
सम्बधित खबरे

देखें अन्य वीडियो

देखें अन्य फोटो