'दुनिया'

सीरिया नरसंहार का जवाबः अमेरिका, फांस, ब्रिटेन ने किए दमिश्क पर साझा हमले

14 Apr 2018

सीरिया में हो रहे रासायनिक हमलों के द्वारा मारे जा रहे हजारों निर्दोषों को लेकर अमेरिका कई बार सीरिया को अंजाम भुगतने की चेतावनी दे चुका है, कुछ दिनो पहले हुए केमिकल अटैक के बाद अमेरिका, फ्रांस और ब्रिटेन ने सीरियाई सरकार के खिलाफ बड़ी सैन्य कार्रवाई शुरू कर दी है। अमेरिका ने फ्रांस और ब्रिटेन के साथ मिलकर सीरिया के होम्स के पश्चिम स्थित केमिकल भंडारण ठिकाने, कमांड पोस्ट व केमिकल उपकरण भंडारण ठिकाने और दमिश्क स्थित साइंटिफिक रिसर्च सेंटर पर करीब सौ से ज्यादा हमले किए। इन हमलों के लिए अमेरिका ने B-1 बॉम्बर्स, टोरनाडो जेट्स और युद्धपोत का इस्तेमाल किया।



हमले में इस्तेमाल हुए ये हथियार



सीरियन ओब्जर्वेटरी फॉर ह्यूमन राइट्स के मुताबिक अमेरिका, फ्रांस और ब्रिटेन ने सीरिया के साइंटिफिक रिसर्च सेंटर्स और कई सैन्य ठिकानों पर हमले किए गए। अमेरिका के रक्षा मंत्री जेम्स मैटिस के मुताबिक, इस बार पिछले साल सीरिया में किए गए हमले से ज्यादा हथियारों का इस्तेमाल किया जा रहा है। पिछले साल सीरिया में अमेरिका ने 59 टोमहॉक मिसाइलें दागी थी। वहीं, ब्रिटेन के रक्षा मंत्रालय के मुताबिक, चार टोरनाडो जेट्स से मिसाइलें दागी गईं। इसके अलावा फ्रांस के रक्षा मंत्रालय ने राफेल लड़ाकू विमानों से मिसाइल दागने के वीडियो फुटेज जारी किया है। नाटो द्वारा भी सीरिया पर अमेरिकी नेतृत्व में किए गए हमले का समर्थन किया।




असद सरकार को थी पहले से जानकारी



मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, सीरिया की असद सरकार के एक अधिकारी ने बताया कि, हम इस बात के लिए रूस का शुक्रिया अदा करते हैं कि, उसने हमें समय रहते इस हमले की जानकारी दे दी। जिसके चलते हम अपने सैन्य ठिकाने हमले से पहले खाली कर पाए। उन्होंने ये भी कहा कि, हमारे जिन ठिकानो को निशाना बनाया गया, उनमें कई हथियार हालही में बनाए गए थे, जिन्हें हम पहले ही खाली करा चुके थे। सूत्रों से मिली जानकारी से ये भी पता चला है कि, सीरिया भी अब अमेरिका, फांस और ब्रिटेन के हमले पर जवाबी कार्रवाई करने की योजना बना रहा है। सीरिया ने अपना जवाबी ऑपरेशन शुरु करते हुए अपनी ओर से एंटी गाइडेड मिसाइलें लॉन्च कर दी है।        


Select Rate

Post Comment
 
Enter Code:
सम्बधित खबरे

loading...

देखें अन्य वीडियो

देखें अन्य फोटो