Business: नफा-नुकसान

कम होगा शताब्दी का किराया, चेहरा बताएगा आपकी पहचान !

26 Mar 2018

देश में चलने वाली प्रीमियम शताब्दी ट्रेनों का किराया कम हो सकता है। संसाधनों का पूरी तरह से उपयोग करने के लिए रेलवे ऐसे रूट्स पर चलने वाली शताब्दी ट्रेनों का किराया घटाने पर विचार कर रहा है, जिसमें पैसेंजर्स की संख्या कम रहती है। भारतीय रेल ने 25 ऐसी शताब्दी ट्रेनों की पहचान की है, जिनका किराया कम किया जाएगा। रेलवे अधिकारी की माने तो 'भारतीय रेल कुछ शताब्दी ट्रेनों के किराए को कम करने वाले प्रपोजल पर सक्रियता से काम कर रहे हैं।' किराए को कम करने के प्रस्ताव को उस पायलट प्रॉजेक्ट की सफलता से भी तेजी मिली है, जिसमें दो ट्रेनों का किराया पिछले साल कम कर दिया गया था, अधिकारी ने बताया कि जहां पायलट स्कीम लागू की गई थी वहां कमाई में 17 प्रतिशत का उछाल आया और यात्रियों की संख्या भी 63 प्रतिशत बढ़ी।आपको बता दें कि, अभी देशभर में करीब 45 शताब्‍दी ट्रेने पटरियों पर दौड़ रही हैं। 


वहीं, यूनिक आईडेंटिफिकेशन अथॉरिटी ऑफ इंडिया यानी UIDAI 1 जुलाई से चेहरे से पहचानने के लिए एक नया टूल जारी करेगा। UIDAI ने इस टूल को लेने की घोषणा इसी साल जनवरी में की थी। ये सुविधा उन लोगों के काफी फायदेमंद साबित हो सकती है, जिनके बॉयोमैट्रिक लेने में दिक्‍कत आ रही हो। फेस ऑथेंटिकेशन का फायदा लेने के लिए तीन तरह के मॉडल तैयार किए गए हैं। इसके साथ ओटीपी, आंखों की पुलतियों से पहचान और फिंगर प्रिंट का भी इस्‍तेमाल करना होगा। ऐसा होने के बाद ही आधार होल्‍डर की सिस्‍टम में पहचान वैरीफाई हो पाएगी।


Select Rate

Post Comment
 
Enter Code:
सम्बधित खबरे

loading...

देखें अन्य वीडियो

देखें अन्य फोटो