'दुनिया'

दुनिया से विदा हुए महान विज्ञानिक स्टीफन हॉकिंग, खोला था Big Bang से पहले का राज

14 Mar 2018

दुनिया के महान विज्ञानिकों में शुमार स्टीफन हॉकिंग का निधन हो गया है। इस बात की पुष्टी  उनके परिवार के सदस्यों ने की है। महान वैज्ञानिक स्टीफन हॉकिंग ने 76 की उम्र में आखरी सांस ली। 'अ ब्रीफ हिस्ट्री ऑफ टाइम' नामक बेस्टसेलिंग बुक के लेखक हॉकिंग कैम्ब्रिज विश्वविद्यालय में सैद्धांतिक ब्रह्मांड विज्ञान केन्द्र ( सेंटर ऑफ थियोरेटिकल कोस्मोलॉजी) के शोध निर्देशक भी रहे। हॉकिंग अपने जीवन के 55 वर्ष व्हीलचेयर पर रहे थे। एक इंटरव्यू के दौरान उन्होंने बताया था कि, ''21 साल की उम्र में डॉक्टरों ने मुझे बता दिया था कि, में मोटर न्यूरोन नामक लाइलाज बीमारी से ग्रस्त हूं।''



बता दें कि, ‘वो एक महान वैज्ञानिक और अद्भुत व्यक्ति थे, जिनके काम और विरासत आने वाले समय तक याद रखे जाएंगे। उनकी बुद्धिमतता और हास्य के साथ उनके साहस और दृढ़- प्रतिज्ञा से पूरी दुनिया प्रभावित है।’ एक इंटरव्यू में उन्होंने कहा था कि, अगर आपके प्रियजन ना हों तो ब्रह्मांड वैसा नहीं रहेगा जैसा है। हम उन्हें हमेशा याद करेंगे।’ 


हॉकिंग साल 1963 में मोटर न्यूरॉन बीमारी से ग्रस्त हुए थे, उस समय डॉक्टरों ने कहा था कि, उनके जीवन के सिर्फ दो साल बचे हैं, लेकिन वो पढ़ने के लिए कैम्ब्रिज चले गए और एल्बर्ट आइंस्टिन के बाद दुनिया के सबसे महान सैद्धांतिक भौतिकीविद के नाम से जाने गए।


हॉकिंग ने खोला था Big Bang से पहले का राज



बिगबैंग थ्‍योरी से तो हर कोई वाकिफ है। हमारा संसार, आकाश गंगाएं, सौरमंडल और सारे ग्रह बिगबैंग के कारण ही बने हैं। अब तक सभी वैज्ञानिकों का यही मानना है कि, संसार की हर चीज बिगबैंग के बाद ही अस्तित्व में आया। महान वैज्ञानिक स्‍टीफन हॉकिंग ने वो राज खोला, जिसे पूरी दुनिया बरसों से जानता चाहती है। हाल ही में उन्होंने बिगबैंग के पहले के संसार के बारे में बताया, जिसे जानकर विज्ञान भी अचंभित है। उन्होंने बताया कि, आज से करीब 13.8 अरब साल पहले ब्रह्मांड बहुत छोटे से आकार से बढ़ना शुरु हुआ था। फिर बहुत ज्‍यादा तापमान और फोर्स के कारण ये बढ़ना शुरु हुआ। इसके बाद अणु आपस में मिले। पहले उनका आकार बहुत बढ़ा था, फिर उनका घटना शुरु हुआ, जिससे तमाम तारा मंडल, ग्रह और आकाश गंगाएं अस्तित्‍व में आईं। यही बिगबैंग था, जिससे हमारा संसार बना और आजतक ब्रह्मांड का आकार धीरे धीरे बढ़ रहा है।


पूरी दुनिया के वैज्ञानिक ब्रह्मांड के बारे में यही जानते हैं, लेकिन इस बिगबैंग के पहले क्‍या था या कहें कि दुनिया कैसी थी, इस पर अब तक वैज्ञानिक कुछ खास नहीं जान सके हैं और इस पर वैज्ञानिकों की बहस का कोई रिजल्‍ट नहीं निकला है। इसी बीच वर्ल्‍ड फेमस वैज्ञानिक स्‍टीफन हॉकिंग ने टीवी शो StarTalk पर खुलासा करते हुए बताया कि, बिगबैंग के पहले क्‍या हुआ करता था।


पीएम मोदी ने जताया दुख



प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने महान ब्रह्मांड विज्ञानी स्टीफन हॉकिंग के निधन पर दुख जताया, पीएम ने अपने ट्विटर पर लिखा कि, उनके धैर्य और दृढ़ता ने दुनियाभर के लोगों को प्रेरणा दी। पीएम मोदी ने हॉकिंस को एक उत्कृष्ट वैज्ञानिक और शिक्षाविद बताते हुए कहा कि, उनका निधन दुखद है। उन्होंने ये भी कहा कि, उनके काम ने विश्व को एक बेहतर स्थान बनाया है।


Select Rate

Post Comment
 
Enter Code:
सम्बधित खबरे

loading...

देखें अन्य वीडियो

देखें अन्य फोटो