'दुनिया'

चीन में राष्ट्रपति कार्यकाल की समय सीमा समाप्त, पूरी जिंदगी पद पर रहेंगे "शी"

3/11/2018 12:00:00 AM



पिछले कई दिनों से चीन की राजनीति में राष्ट्रपति कार्यकाल की समय सीमा समाप्त करने की मांग उठ रही थी, जिसको लेकर चीन की संसद ने इस मांग को स्वीकारते हुए राष्ट्रपति पद की समय सीमा समाप्त कर दी है। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, चीन ने राष्ट्रपति शी जिनपिंग के लिए दो कार्यकाल की समय सीमा को समाप्त करने के फैसले का बचाव करते हुए कहा था कि, सत्तारूढ़ कम्युनिस्ट पार्टी के प्रभुत्व को बरकरार रखने और नेतृत्व की एकता के लिए ये जरूरी था। 


चीन की कम्युनिस्ट पार्टी की केंद्रीय समिति ने संविधान में संशोधन करके राष्ट्रपति और उपराष्ट्रपति के दो कार्यकाल की समय सीमा को समाप्त करने का प्रस्ताव पेश किया था। हाल ही में अपना दूसरा कार्यकाल शुरू करने वाले शी के बारे में कहा जा रहा था कि, इस प्रस्ताव के बाद वो आजीवन राष्ट्रपति रहेंगे। वहीं, अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने भी चीन में आजीवन राष्ट्रपतिकाल के प्रस्ताव का समर्थन किया था।


इसपर चीन और विदेशों में चिंता और अटकलों का दौर शुरू हो गया था। चीनी क्रांति के बाद पार्टी के संस्थापक माओ जेदोंग ने भी निरंकुश सत्ता का उपभोग किया था। नेशनल पीपुल्स कांग्रेस के प्रवक्ता झांग येसूई ने पहली बार पार्टी के इस फैसले पर कहा था कि, सीपीसी के संविधान के मुताबिक राष्ट्रपति के लिए तो कार्यकाल की सीमा है, लेकिन पार्टी प्रमुख और सैन्य प्रमुख के कार्यकाल के बारे में कोई सीमा निर्धारित नहीं है। शी ने 2012 में सत्ता संभाली थी। इसके अलावा वो पार्टी और सेना के अध्यक्ष रहे। 


संविधान संशोधन के बाद 64 साल के जिनपिंग के जीवन भर चीन का नेता बने रहने के रास्ते का रोड़ा समाप्त हो जाएगा। फिलहाल उनका पांच साल का दूसरा कार्यकाल चल रहा है और मौजूदा प्रणाली के तहत वो शासन के 10 साल पूरे होने के बाद 2023 में रिटायर हो जाएंगे। माओ के बाद शी को देश का सबसे मजबूत नेता माना जाने लगा है, क्योंकि वो देश के राष्ट्रपति होने के अलावा सीपीसी और दोनों सेनाओं के प्रमुख भी हैं।



Select Rate

Post Comment
 
Enter Code:
सम्बधित खबरे

देखें अन्य वीडियो

देखें अन्य फोटो