रोचक खबरें

अब इनके पत्थर का जवाब पत्थर से देंगे झाबुआ के युवक

20 Apr 2017

कहावत है ईंट का जवाब पत्थर से, लेकिन झाबुआ के युवाओं ने तो पत्थर का जवाब पत्थर से देने की पेशकश की है। ये वो युवा हैं जो गोफन चलाने में माहिर हैं।अपनी इस कला के जरिए वो कश्मीर के युवाओं को सबक सिखाना चाहते हैं।


पत्थरबाजों ने कश्मीर में खूब मचाया कोहराम, पैलेट गन और आंसू गैस भी उनके हमले के आगे हुए बेबस


झाबुआ के कुछ युवकों ने खुद ये पेशकश की है, जो गोफन में महारत के चलते कश्मीर के पत्थरबाजों को देना चाहते हैं करारा जवाब, ये वो युवा हैं जो बरसों से गोफन चला रहे हैं और दावा ये कि गोफन से छोड़े हुए पत्थर का निशाना कभी चूकता नहीं।


केवल इतना ही नहीं पत्थरबाजों से निपटने के लिए इन युवाओं ने पूरी एक गोफन बटालियन बनाने का सुझाव भी दिया है। जो जरूरत पड़ने पर पत्थरबाजों को मुंहतोड़ जवाब देने के लिए तैयार रहेगी।

 अब ये सवाल भी लाजमी है कि गोफन है क्या? जिसके दम पर पत्थरबाजों को जवाब देने की योजना बनाई जा रही है। दरअसल ये आदिवासियों का बेहद पुराना हथियार है। जिसके एक छोरपर पत्थर फंसा कर इसे तेजी से घुमाया जाता है। जानकार बताते हैं कि हाथ से छोड़े गए पत्थर की तुलना में गोफन से छोड़ा गया पत्थर ज्यादा दूर तक जाता है और वार भी जोरदार होता है।


झाबुआ के युवाओं ने योजनाओं का खाका तो पूरा तैयार कर लिया है। देखना ये है कि क्या वाकई इस पर अमल होना मुमकिन है। 








Select Rate

Post Comment
 
Enter Code:
सम्बधित खबरे

देखें अन्य वीडियो

देखें अन्य फोटो