न्यूज़ डिटेल

अंतागढ़ की अनंत कथ, फिर सुर्खियों में अंतागढ़ टेपकांड, कांग्रेस ने हाईकोर्ट में दायर की याचिका
18 Jan 2017



जिस अंतागढ़ टेपकांड ने छत्तीसगढ़ की सियासत को बदल दिया वो अंतागढ़ टेपकांड एक साल बाद फिर सुर्खियों में आया है। मामले की निष्पक्ष जांच की मांग करते हुए कांग्रेस ने हाईकोर्ट में याचिका लगाई है। दरअसल इस मामले को कांग्रेस ने उठाकर एक तीर से दो निशाने साधे है।



फिर गर्माया अंतागढ़ टेपकांड

जिस अंतागढ़ उपचुनाव ने छत्तीसगढ़ की सियासत बदल दी वो मामला फिर सुर्खियों में है। मंगलवार को कांग्रेस अध्यक्ष भूपेश बघेल हाईकोर्ट पहुंचे और अंतागढ़ उपचुनाव के दौरान सामने आए टेप की रहस्य को सुलझाने के लिए मामले को एसआईटी को सौंपने की मांग की। बघेल ने कहा कि मामला हाईप्रोफाइल है। लिहाजा स्थानीय पुलिस इसकी जांच निष्पक्ष नहीं कर सकती।



दरअसल अंतागढ़ उपचुनाव में कांग्रेस के अधिकृत प्रत्याशी मंतूराम पंवार ने ऐन मौके पर नामांकन वापस लेकर बीजेपी को वॉक ओवर दे दिया था। बाद में इसी चुनाव में प्रत्याशी की खरीद फरोख्त हुई इस बात खुलासा करते हुए कांग्रेस ने बीजेपी और अजीत जोगी की मिलीभगत के आरोप लगाए थे और आरोपों को पुख्ता करने के लिए एक ऑडियो टेप भी जारी किया था इसी मामले को लेकर अमित जोगी को कांग्रेस से बाहर किया गया तो अजीत जोगी ने नई पार्टी बनाई। हालांकि मुख्यमंत्री का कहना है कि, जो जांच हो रही है वो पर्याप्त है। अंतागढ़ मामले को एकबार फिर जिंदा करने के पीछे कांग्रेस की एक राजनीतिक सोच नजर आती है। जिस मामले को लेकर कांग्रेस ने जोगी पिता पुत्र को कटघरे में खड़ा किया नई पार्टी बनी वो ही मामला ठंडा पड़ गया सूत्र बताते है कि, कांग्रेस चुनाव तक मामले को ठंडा पड़ने देना नहीं चाहती। शायद हाईकोर्ट पहुंचने की यही वजह है।

 
चुनिए

Post Comment
 
Enter Code: