खबरे सबसे तेज
Bhakti Ke Rang, Simhasth 2016

उज्जैन सिंहस्थ के सफल आयोजन के लिए सिंहस्थ का सफलता पूर्वक आखरी स्नान हो जाने के बाद आज मीडिया के सकारात्मक काम और सिंहस्थ की खबरों को जनजन तक पंहुचने वाले सभी मीडियाकर्मियों को धन्यवाद देने उज्जैन पंहुचे सीएम शिवराज सिंह चौहान ने अंजू श्री होटल में मीडिया कर्मियों के काम को सहराते हुए धन्यवाद दिया और कहा सभी लोगो की तरह मिडिया ने भी अपनी भूमिका पूरी तरह निभाई है। साथ ही उन्होंने कहा की सभी वर्गों ने खुल कर मदद की ख़ास कर मुस्लिम समाज और बोहरा समाज भी प्राकृतिक आपदा के समय श्रधालुओं के साथ दिखा। होम गार्ड और पुलिस जवान का आभार माना। सीएम ने कहा वो सवयं सेवी संस्थाओ का सम्मान करेंगे। 29 मई को महाकाल मंदिर से उज्जैन शहर वासियों का भी आभार प्रकट करने के लिए रेली  के रूप में निकलेंगे। साथ ही सफायी कर्मियों के साथ भोजन करेंगे और सफाई में योगदान भी देंगे। कार्यक्रम के बाद सीएम और उनकी पत्नी किन्नर अखाड़े गए, जन्हा उन्होंने किन्नर गुरु महामंडलेश्वर लक्ष्मी नारायण त्रिपाठी से आशीर्वाद भी लिया

और भी..
Simhasth 2016- Vyavsthaye

उज्जैन के निनौरा में चल रहे विचार महाकुंभ के समापन सत्र में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी शामिल हो रहे हैं। प्रधानमंत्री मोदी की सुरक्षा के लिहाज से पुलिस ने खासे इंतजाम किए हैं। पीएम मोदी के लिए त्रिस्तरीय सुरक्षा व्यवस्था रहेगी। चूंकि प्रधानमंत्री मोदी इंदौर एयरपोर्ट से सीधे निनौरा गांव पहुंचेंगे। इसलिए अलग से ट्रैफिक प्लान भी तैयार किया गया है। पीएम की सुरक्षा व्यवस्था को लेकर इंदौर रेंज के डीआईजी संतोष सिंह से बात की बंसल न्यूज से बात की।

और भी..
Simhasth 2016- Kaisein Pahunche

 

उज्जैन : सिंहस्थ की ब्रांडिंग सीएम शिवराज सिंह चौहान देश-विदेश में कर रहे हैं। अब ट्रेनों में भी ब्रांडिंग शुरू कर दी गई है। मालवा एक्सप्रेस में सिंहस्थ की ब्रांडिंग शुरू की गई। जिसे देख यात्री काफी खुश दिखाई दिए। इंदौर से जम्मू के लिए जाने वाली मालवा एक्सप्रेस में श्रद्धालुओं को आमन्त्रण देने के लिए ट्रेन पर पोस्टर चिपकाए गए हैं। ताकि सिंहस्थ में ज्यादा से ज्यादा लोग पहुंच सकें।

और भी..
Simhasth 2016- Helpline

यात्रियों को किसी तरह की दिक्कत आने पर इन नंबरों से संपर्क किया जा सकता है। लेकिन जानकारी के लिए कॉल सेंटर नंबर 1100 पर संपर्क किया जा सकता है।


 


फायर ब्रिगेड, उज्जैन

0734-2551933

सिविल अस्पताल, उज्जैन

0734-2551077

पुलिस कण्ट्रोल रूम, उज्जैन

0734-2527143

थाना अजाक, उज्जैन

0734-2527128

थाना देवासगेट, उज्जैन

0734-2552140

थाना जीवाजीगंज, उज्जैन

0734-2574576

थाना कोतवाली, उज्जैन

0734-2551173

थाना माधवनगर, उज्जैन

0734-2527134

थाना महाकाल, उज्जैन

0734-2551174

थाना नीलगंगा, उज्जैन

0734-2551172

थाना खाराकुआ, उज्जैन

0734-2551178

थाना भैरवगढ़, उज्जैन

0734-2574275

थाना चिमनगंज मंडी, उज्जैन

0734-2551179


 

 

और भी..
Today's Issue

पांच राज्यों में मिली हार के बाद कांग्रेस के प्रदर्शन को लेकर कई सवाल खड़े हो रहे हैं। पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी की पुण्यतिथी पर कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने ये कहकर कार्यकर्ताओं का मनोबल बढ़ाने की कोशिश की। सोनिया ने कहा कि असफलता अस्थाई है, वहीं दूसरी तरफ राहुल गांधी को पार्टी की कमान सौंपे जाने की मांग अब लगातार उठती नजर आ रही है। पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी की पुण्यतिथि पर सोनिया ने कहा कि असफलता भी अस्थाई है,अपने उसूलों के साथ डटे रहें। यकीनन मायूस कार्यकर्ताओं और पार्टी की मौजूदा हालत के बीच पार्टी अध्यक्ष की चिंता समझी जा सकती है। लेकिन क्या कांग्रेस को पुराने वैभव तक लाने के लिए इतना ही काफी है। या फिर बड़े रद्दोबदल और रणनीतिक बदलाव की ज़रूरत है ?

लगातार नाकामी और भविष्य की संभावनाओं के बीच क्या ये सही वक्त है जब राहुल गांधी को पार्टी की कमान सौंप दी जाए ? बड़ी सर्जरी और नए चेहरों को मौका देने की बात अब खुलकर होने लगी है। लेकिन लोकसभा चुनाव से लेकर अब तक की लगातार हारों के बीच सवाल वही है। आखिर बदलाव होगा कब ? राहुल खुद जिम्मेदारी लेने से बच रहे हैं या फिर पुराने नेताओं का दबाव उन्हें शीर्ष पद से दूर रख रहा है ? बीते लंबे समय से नंबर दो की हैसियत के नाते राहुल ही पार्टी की अगुवाई कर रहे हैं। लेकिन किसी भी हार के लिए उन पर ठीकरा नहीं फोड़ा गया। तो क्या अब वक्त आ गया है, जब वो अपने हिसाब सियासी मोहरे सजाएं और जीत-हार की जवाबदेही खुद लें ?

पार्टी के सीनियर नेताओं और राहुल गांधी के बीच वैचारिक मतभेद की खबरें अक्सर सुनने को मिलती हैं, क्या राहुल उन नेताओं और नई पीढ़ी के नेताओं के बीच सामंजस्य बैठा पाएंगे। लगातार हार के बीच कांग्रेस के सामने सबसे बड़ी चुनौती है कार्यकर्ताओं के टूटे मनोबल को मज़बूत कर जीत का भरोसा पैदा करना।  क्या राहुल तेज़तर्रार मेंटर और लीडर के तौर पर ये कर पाएंगे। वैसे फिलहाल तो इंतजार है राहुल के पार्टी अध्यक्ष के तौर पर जिम्मेदारी संभालने का।

और भी..
आज का सवाल

नतीजा            पिछला सवाल

क्या आप मानते हैं कि उज्जैन महाकुंभ 2016 में म.प्र. सरकार की व्यवस्थाएं पिछले कुम्भ की अपेक्षा सराहनीय हैं?


         

शेयर बाजार
Share Market BSE

Share Market NSE
मध्य प्रदेश
खबरें शहरो से
छत्तीसगढ़

Follow Us

       
विज्ञापन के लिए संपर्क करे